मुख्‍य सामग्री पर जाएं | पाठ्य का आकार: Smallest text size Smaller text size Medium text size Larger text size Largest text size | Contrast Scheme: Black on White Yellow on Black | This Page is in English

गृहस्वामियों पॉलिसी

विस्तार

यह पॉलिसी 10 अनुभागों से मिल कर बनी है जो निम्नानुसार है.

खण्ड 1 - अग्नि और संबंद्ध आपदाएं

ए - इमारत के लिए आवरण

बी - प्रस्तावक और उसके परिवार के सदस्य जो स्थायी रुप से उसी के साथ रहते हैं से संबंधित आवास में अंतर्वस्तु का आवरण.

संबंद्ध आपदाएं

  1. अग्नि, तडित, घरेलु उपकरणों में गैस का विस्फोट
  2. पानी की टंकी, उपकरण या पाईपों का फटना या ओवर फ्लो होना
  3. वायुयान से उत्पन्न हानि
  4. उपद्रव, हडताल, दुर्भावना पूर्ण कत्य या आतंकवादी कृत्य
  5. भूकंप, अग्नि और/ या शॉक, भूधसकन और भूसंख्लन (चट्टान घिसकना भी शामिल) से हानि
  6. बाढ़, तुफान, आंधी, बवंडर, प्रभंजन, टारनेडो या चक्रवात
  7. समाघात हानि

खण्ड 2 - गृहभेदन और सेंधमारी जिसमें तस्करी और चोरी भी शामिल है.

गृहभेदन, सेंधमारी, तस्करी या चोरी से आवास के उपकरणों को उत्पन्न हानि हेतु आवरण.

खण्ड 3 - सर्व जोखिम (जवाहरात और मूल्यवान वस्तुएं)

आपके जवाहरात और मूल्यवान वस्तुओं के दुर्घटना या रखरखाव के समय, पहने हुए या भारत में कहीं भी ले जाते समय दुर्भाग्यपूर्वक नुकसान या हानि बशर्ते उनका मूल्य अनुसूची में घोषित हो हेतु आवरण.

खण्ड 4 - प्लेट ग्लास

बीमाधारक के परिसर में लगे प्लेट ग्लास का दुर्घटना के तहत टूटना जो कि बीमा राशि में निर्धारित सीमा के अधीन होगा के नुकसान या हानि हेतु.

खण्ड 5 - घरेलु उपकरणों का टूटना

पूर्वाभास के बिना और अचानक मशीनी या विद्युतीय हानि के कारण घरेलु उपकरणों की टूट-फूट हेतु आवरण.

खण्ड 6 - टी.वी.सेट जिसमें वीसीपी/ वीसीआर भी शामिल हैं (सर्व जोखिम)

टी.वी.सेट जिसमें वीसीपी/ वीसीआर भी शामिल है को अग्नि और संबंद्ध आपदाओं, सेंधमारी, गृहभेदन या चोरी, बाह्य दुर्घटनात्मक कारणों, मशीनी या विद्युतीय हानि से हुई टूट-फूट से हानि या नुकसान हेतु आवरण. शारीरिक घाव या दुर्घटना के कारण बीमित परिवार के अलावा किसी सदस्य या कर्मचारी की मृत्यु, टी.वी.सेट के कारण बीमाधारक के संरक्षण के बाहर किसी की संपत्ति को उत्पन्न हानि हुई हो हेतु रु.25,000/-की सीमा तक आवरित है.

खण्ड 7 - पैडल सायकल (सर्व जोखिम)

पैडल सायकल को हानि या नुकसान हेतु आवरण जो निम्न कारणों से हो :-

  1. अग्नि और संबंद्ध आपदाएं
  2. सेंधमारी, गृहभेदन, चोरी
  3. बाह्य कारणों से दुर्घटना
  4. तृतीय पक्ष व्यक्तिगत घाव या रु.10,000/- तक के लिए तृतीय पक्ष संपत्ति हानि.

खण्ड 8 - बॅगेज बीमा

भारत में कहीं भी यात्रा या छुट्टी के दौरान साथ लिए गए सामान की दुर्घटना या दुर्भाग्यवश हानि या दुर्घटना हेतु आवरण.

खण्ड 9 - व्यक्तिगत दुर्घटना

अनुसूची में नामित बीमाधारक व्यक्ति की मृत्यु या शारीरिक घाव जो दुर्घटना, हिंसा, बाह्य और दृश्य कारणों से हो हेतु आवरण और यह विनिर्दिष्ट सीमा के अधीन होगा.

खण्ड 10 - जन दायित्व

अनुसूची में विनिर्दिष्ट राशि के अनुसार बीमाधारक को हुए शारीरिक घाव या हानि या तृतीय पक्ष संपत्ति की क्षति हेतु बीमाधारक को जन दायित्व आवरण और बीमाधारक के परिसर में काम कर रहे घरेलु नौकरो हेतु कर्मकार क्षतिपूर्ति दायित्व.

पॉलिसी के खण्ड 1 बी को चुनना अनिवार्य है. इस पॉलिसी का बीमा लेने हेतु न्यूनतम 3 खण्डों के साथ जिसमें खण्ड 1 बी को लेना भी आवश्यक है.

शीर्ष

गृहस्वामी की बीमा आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु विशेष रुप से तैयार की गई पॅकेज पॉलिसी.

विशेषताएं

एक एकल पॉलिसी के अंतर्गत गृहस्वामियों की बीमा आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए विशेष रुप से तैयार की गई पॅकेज पॉलिसी. हमारे अनेक गृहस्वामियों द्वारा सामान्यत: ली जाने वाली मानक पॉलिसी.

प्रस्तावक द्वारा पॉलिसी के अंतर्गत चुने गए खण्डों के विकल्पों के आधार पर प्रीमियम में छूट निर्भर है.

शीर्ष

बीमा राशि कैसे चुने?

घरेलु सामान के बीमा के लिए यह आवश्यक है कि बृहद श्रेणी में सामान के समूह बनाएं जैसे फर्नीचर, कपडे, लीनेन, बर्तन, क्रॉकरी इत्यादि और इनका मूल्यांकन बाजार मूल्य के बराबर दें जिस समान बाजार में यह सामान खरीदा या बेचा जाता है.

उक्त वर्णित के आधार पर खण्ड 1 ए और बी, 2,3,4,6,7 और 8 बाजार मूल्य के अनुसार बीमित होंगे.

खण्ड 5 की स्थिति में जैसा कि घरेलु उपकरणों की टूट-फूट होने पर, बीमा राशि समान मद से प्रतिस्थापन के लिए वर्तमान मूल्य की होगी. उदा. - 3 वर्ष पुराने 165 लीटर के गोदरेज फ्रिज का बीमा करने हेतु बीमित राशि नए 165 लीटर गोदरेज फ्रिज की कीमत के बराबर होगी.

हालांकि दावे के अंतर्गत देय राशि वही होगी जो नुकसान से पहले उस समान की स्थिति थी. यह बीमा राशि के पर्याप्त होने के अधीन होगा.

खण्ड 10 के अंतर्गत बीमा राशि अर्थात् व्यक्तिगत दुर्घटना हेतु नौकरी के 72 महीनों के वेतन से अधिक नहीं होगा.

शीर्ष

दावा कैसे करें?

पॉलिसी के अंतर्गत किसी भी घटना के तहत वैध दावे के मामले में निम्नलिखित कदम उठाए जाने चाहिए.

  1. हानि / नुकसान को कम करने हेतु आवश्यक उपाय करें.
  2. आग के मामले में फायर ब्रिगेड को तुरंत सूचित करें.
  3. चोरी, लूटमार या सेंधमारी के मामले में तुरंत पुलिस को सूचना दें जिसके साथ चुराए गए सामान की सूची के साथ-साथ उनका अनुमानित मूल्य भी हो.
  4. बीमा कंपनी को फोन या फॅक्स और लिखित में सूचना दें.
  5. बीमा कंपनी द्वारा नियुक्त सर्वेयर का पूर्ण सहयोग करें और हानि के वास्तविक मूल्य हेतु आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध करवाएं. बीमा कंपनी द्वारा जारी दावा फॉर्म भी प्रस्तुत करें.
  6. हानि के लिए जिम्मेदार किसी अन्य पक्ष से वसूली के अधिकार के मामले में कंपनी द्वारा दावे के भुगतान पर वसूली के अधिकार का प्रतिस्थापन.

नोट :- पॉलिसी में दिए गए विवरण केवल सांकेतिक हैं विस्तृत नहीं. अन्य जानकारी के लिए न्यू इन्डिया के किसी भी नजदीकी कार्यालय से संपर्क करें.

शीर्ष

टोल फ्री: 1800-209-1415
Buy online link - New India Assurance
 

अतिरिक्त लिंक